Virat Post

Rajasthan News Site

युवा कल्याण कार्यक्रमों को ‘रोजी-रोटी और संस्कार’ से जोड़ें – जिला कलक्टर

नेहरू युवा केन्द्र की जिला युवा कार्यक्रम एवं सलाहकार समिति की बैठक सम्पन्न

जयपुर। जिला कलक्टर जगरूप सिंह यादव ने कहा कि आज के युवा की सबसे बड़ी और पहली आवश्यकता रोजगार है एवं नेहरू युवा केन्द्र जैसे संगठनों को रूटीन कार्यक्रमों के बजाय अब वर्तमान की इस आवश्यकता को पहचान कर इसी दिशा में कार्ययोजना बनाकर काम करना चाहिए। युवाओं को इतना सक्षम बनाया जाना चाहिए कि वे रोजगार के पीछे नहीं बल्कि रोजगार उनका पीछा करे।

यादव ने मंगलवार को जिला कलक्टे्रट में आयोजित नेहरू युवा केन्द्र जयपुर की बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि युवा संगठनों को अन्य आयोजनों में सहयोग के साथ अब अग्रेसिव अप्रोच अपनाते हुए स्वयं के स्तर पर एवं स्वयं की संकल्पना के साथ युवा कल्याण के लिए काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि नई तकनीक के चलते शिक्षण, प्रशिक्षण और कौशल संवर्धन में सृजित अवसरों की जानकारी देकर और इसका जरिया बनकर युवाओं का आमुखीकरण किया जाना चाहिए ताकि सरकारी नौकरी का मोह छोड़कर युवा अन्य रोजगारों को अपना सकें।

उन्होंने कहा कि युवा किसी भी देश का भविष्य हैं और उनके हित के लिए किए जाने वाले काम आभासी न होकर प्रासंगिक एवं वास्तविक धरातल पर नजर आने चाहिए। उनके लिए श्रम, रोजगार, कौशल संवद्र्धन करने, स्किल को रीस्किल करने, प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी, वर्तमान में प्रासंगिक अन्तराष्ट्रीय कोर्स एवं उनके प्रवेश में सहायता, तकनीक से परिचित कराना जैसे काम किए जाने चाहिए।

यादव ने नेहरू युवा केन्द्र के अधिकारियेां को युवाओं के लिए ‘रोजी-रोटी और संस्कारÓ के लिए किए जाने वाले प्रयासों की कार्ययोजना बनाने को कहा। नेहरू युवा केन्द्र के जिला समन्वयक महेश कुमार शर्मा ने यादव को वार्षिक कार्ययोजना के साथ वर्ष भर आयोजित किये जाने वाले समन्वित व विशेष कार्यक्रमों की जानकारी दी एवं केन्द्र की विशेष उपलब्धियों के बारे में बताया। बैठक में एनएसएस, स्काउट, समाज कल्याण विभाग के साथ ही अन्य विभागों के अधिकारी तथा राष्ट्रीय युवा पुरस्कार प्राप्त एवं नेहरू युवा केन्द्र के राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवक व युवा शामिल थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *