Virat Post

Rajasthan News Site

करौली जिले के स्वतंत्रता सैनानी किशनलाल गुर्जर को राजकीय सम्मान के साथ दी अंतिम विदाई

जयपुर। करौली जिले के एकमात्र 105 वर्षीय स्वतंन्त्रता सेनानी श्री किशन लाल गुर्जर का सोमवार 22 जुलाई को निधन हो गया। उन्होंने दोपहर 3 बजे के आसपास अपनी अंतिम सांस ली। जैसे ही राजपुर गांव में स्वतंत्रता सैनानी के निधन का समाचार मिला वैसे ही जिले में शोक की लहर फैल गई। जिला एवं पुलिस प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर स्वतंत्रता सैनानी श्री किशनलाल गुर्जर को राजकीय सम्मान के साथ श्रृद्धांजलि अर्पित की।

जिला कलक्टर नन्नूमल पहाडिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रवीन्द्रसिंह, उपखण्ड अधिकारी करौली मुनिदेव यादव, तहसीलदार करौली आरएन मीना, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी अशोक तिवारी ने पुष्प चक्र अर्पित कर स्वर्गीय किशनलाल गुर्जर को श्रृद्धांजलि अर्पित की। पुलिस द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया इससे पूर्व राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे में उनके पार्थिव देह को लाया गया जहां उनके बडे़ पुत्र सेवानिवृत सुबेदार रामराज सिंह ने मुखाग्नि दी।

आजाद हिन्द फौज के सिपाही स्व.श्री किशनलाल गुर्जर अपने पीछे पांच बेटे सुबेदार रामराजसिंह, हीरालाल, मेहमानसिंह, रामरूप, दर्शनसिंह एवं एक पुत्री श्रीमती रूकमणी देवी सहित भरे-पूरे परिवार को छोड़कर गए हैं। उनका अंतिम संस्कार से पूर्व परिजनों ने बैण्डबाजे की धुन एवं आतिशबाजी के साथ शव यात्रा निकाली। शव यात्रा में भारी संख्या में लोग उपस्थित थे। आजाद हिन्द फौज के सिपाही श्री किशनलाल गुर्जर को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, मोरारजी देसाई, राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री मोहनलाल सुखाडिया एवं सिंगापुर में ताम्रपत्र देकर सम्मानित किया जा चुका था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *