Virat Post

Rajasthan News Site

कांगो बुखार के प्रति सरकार है पूर्ण सजग, प्रभावित क्षेत्रों में हो रहा है सर्वे

जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि चिकित्सा विभाग कांगो फीवर के प्रति पूरी तरह सजग है और इस बारे में प्रदेशभर के चिकित्साधिकारियों को दिशा-निर्देश भी दिए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि कांगो फीवर की जांच के लिए कुल 136 लोगों के सेम्पल लिए गए, जिनमें से पॉजिटिव पाए गए दो व्यक्ति इन्द्रा पत्नी हरसुखराम निवासी बोरून्दा, जोधपुर व लोकेश पुत्र भूटाराम, पंचायत हतार, जैसलमेर की मौत हो गई है।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा चिकित्सा विभाग के नेतृत्व में टीमें बनाकर प्रभावित क्षेत्रों में घर-घर में सर्वे किया जा रहा है। सर्वे करने वाली टीम को टिक्स से बचाव के लिए ऑडोमॉस भी दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि पशुपालन से समन्वय कर पशुओं व बाड़ों पर साइपरमेथ्रिन का स्पे्र करवाया गया। इसके अलावा जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में पशुपालन व नगर निगम के अधिकारियों के साथ बैठक भी करवाई गई।

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि सैम्पल कलेक्शन के लिए स्टाफ को प्रशिक्षित किया गया तथा जोधपुर संभाग के सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियो, मेडिकल कॉलेज एवं एम्स के चिकित्सा अधिकारियों व जोधपुर जिले के सभी चिकित्साधिकारियों को आमुखीकरण किया जा चुका है। साथ ही 9 सितम्बर को वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से भी अधिकारियों को पूर्ण रूप से सजग रहने और तुरंत एक्शन लेने के भी दिशा-निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि पॉजिटिव पाए गए रोगियों के सम्पर्क के आने वाले व्यक्तियों की 14 दिन तक मॉनिटरिंग की जाएगी, इनके सैम्पल जांच के लिए एनआईवी पुणे भेजे जा रहे हैं। गौरतलब है कि कांगो क्रिमिएन हिमरेजिक फीवर में मनुष्य को वायरस जनित इनफेक्टेड टीक काट लेता है तो यह रोग होता है। इसके कारण तेज बुखार, सिर दर्द, उल्टी, दस्त, बदन दर्द, गर्दन का अकडऩ इत्यादि लक्षण होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *