Virat Post

Rajasthan News Site

चिकित्सा मंत्री ने 14 रक्त संग्रहण वाहनों को दिखाई हरी झंडी

जयपुर (विराट पोस्ट)। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने प्रदेश में रक्तदान की सुविधाएं बढ़ाने के लिए 14 रक्त संग्रहण एवं परिवहन वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह वाहन प्रदेश के सातों संभागों के मुख्यालयों सहित 14 जिलों में स्वैच्छिक रक्तदाताओं से रक्त संग्रहण कर संबंधित जिलों के ब्लड बैंकों को सौपेंगे। अजमेर जिले में दो-दो रक्त संग्रहण व परिवहन वाहन मिले है।

डॉ. शर्मा ने जयपुर स्वास्थ्य भवन से 14 रक्त संग्रहण एवं परिवहन वाहनों के शुभारम्भ अवसर पर यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 5 करोड़ 8 लाख रुपए की लागत के येे वाहन राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों को आवंटित किए गए हैंं। उन्होंने बताया कि इन ब्लड बैंकों का 5 हजार यूनिट प्रतिवर्षं से अधिक संग्रहण है। इन वाहनों के जरिए और अधिक रक्त संग्रहण किया जा सकेगा।

उन्होंने बताया कि यह वाहन एक माह में लगभग 26 दिन स्वैच्छिक रक्तदान शिविरों का आयोजन कर लगभग 2600 ब्लड यूनिट संबंधित ब्लड बैंकों को रक्त संग्रहण करके देंगे, जिससे राज्य में 14 वर्षं तक की बेटियों को बिना रिप्लेसमेंट के ब्लड उपलब्ध कराने के लिए संचालित लाड़ली रक्त सेवा योजना व अन्य जरूरतमंदों को बिना रिप्लेसमेंट के रक्त की आपूर्तिं की जा सकेगी। चिकित्सा मंत्री ने कहा कि यह सेवा रक्तदान की मुहिम को एक नई दिशा देगी। इन वाहनों में कोई भी रक्तदाता विशेष आयोजन जैसे जन्मदिन, विवाह की वर्षंगांठ, प्रियजनों की याद इत्यादि में स्वैच्छिक रक्तदान आसानी से कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि रक्तदान को सबसे बड़ा दान माना गया है।

अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त होंगे वाहन

डॉ. शर्मां ने बताया कि वाहनों में दो डोनर काउच (ऑटोमेटेड), दो ब्लड कलेक्शन मॉनिटर एवं ट्यूब सीलर, 200 यूनिट रक्त क्षमता वाला रेफ्रिजरेटर, एक ऑक्सीजन सिलेंडर, एक डिजीटल थमामज़्ीटर और रक्तदाताओं को प्रोत्साहित करने के लिए एक एलईडी टीवी मय पब्लिक एड्रेसिंग सिस्टम आदि उपलब्ध है।

इन जिलों को किए वाहन आवंटित

जयपुर प्रथम व द्वितीय एवं अजमेर जिले को दो-दो तथा भीलवाड़ा, कोटा, झालावाड़, बीकानेर, जोधपुर, भरतपुर, पाली, चूरू, बाड़मेर व डूंगरपुर जिलों के मेडिकल कॉलेजों को एक-एक रक्त संग्रहण व परिवहन वाहन आवंटित किए गए हैं। इस अवसर पर निदेशक जनस्वास्थ्य डॉ. के.के.शर्मा, निदेशक आरसीएच डॉ. राधेश्याम छीपी, निदेशक एड्स डॉ. आर.पी. डोरिया, स्टेट नोडल आफिसर ब्लड सैल डॉ. अशोक जैन सहित संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *