Virat Post

Rajasthan News Site

पक्षियों के संरक्षण से प्रकृति रहेगी सुरक्षित : खेल मंत्री चांदना

जयपुर (विराट पोस्ट)। आमजन को पक्षियों के साथ प्रकृति के संरक्षण के बारे में जागरूक करने के उद्देश्य से उदयपुर वन विभाग व डब्ल्यूडब्ल्यूएफ इंडिया की तरफ से आयोजित तीन दिवसीय उदयपुर बर्ड फेस्टिवल 2020 का समापन रविवार को प्रदेश के युवा एवं खेल मंत्री अशोक चान्दना के मुख्य आतिथ्य में उदयपुर स्थित ओटीसी परिसर में हुआ।

इस अवसर पर चान्दना ने इस आयोजन की सराहना करते हुए इसे प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री की स्वस्थ एवं सुरक्षित राजस्थान की कल्पना को साकार करने के उद्देश्य से प्रारंभ किए गए निरोगी राजस्थान से जोड़ने पर जोर दिया। उन्होंने बताया कि पक्षियों के संरक्षण से प्रकृति सुरक्षित रहेगी तो मानव जीवन भी स्वस्थ व सुरक्षित रहेगा।

उन्होंने वन सम्पदा के उचित संरक्षण के साथ इसे सहेज कर रखने में आमजन की भागीदारी को अहम बताया। उन्होंने कहा कि वनों के विकास, विस्तार व संरक्षण की जिम्मेदारी सिर्फ सरकार एवं विभाग की नहीं है अपितु हर व्यक्ति को जागरूक होकर इस दिशा में अपना सहयोग देना होगा। उन्होंने कहा कि प्रकृति के पास्थितिकी तंत्र का संतुलन बनाये रखने की आज महती आवश्यकता है। चूंकि इस प्रकृति में सभी एक-दूसरे पर निर्भर है। इसके लिए युवा पीढ़ी को विशेष रूप से जागरूक होकर कार्य करना होगा।

विश्व प्रकृति निधि भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि सिंह ने भविष्य में कन्जर्वेसन ने लिए विशेष योजना तैयार करने की बात कही। उन्होंने डब्ल्यूडब्ल्यूएफ की ओर से प्रकृति के संरक्षण में किए जा रहे प्रयासों के बारे में भी बताया। इस अवसर पर प्रधान मुख्य वन संरक्षक डॉ. एन.सी.जैन ने पावर प्वाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से झीलों के संरक्षण के साथ नम भूमि का पारिस्थितिकी स्वास्थ्य के बारे में सदन को अवगत कराया। एनटीसीए मेम्बर राजपाल सिंह ने भी अपने विचार रखे। मुख्य वन संरक्षक आर.के.सिंह ने इस आयोजन में विभिन्न सहयोगी संस्थाओं, पक्षी विशेषज्ञों, पर्यावरण विद्, स्कूली विद्यार्थियों व स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग के लिए आभार जताया।

विजेताओं को किया सम्मानित


कार्यक्रम में मंत्री चांदना ने विश्व प्रकृति निधि भारत के उदयपुर सभाग कार्यालय की ओर से आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के प्रतिभागियों को सम्मानित किया। चित्रकला प्रतियोगिता के कक्षा 6 से 8 वर्ग में प्रथम सेंट एंथोनी की स्कूल की दिशा व्यास, द्वितीय विट्टी इंटरनेशल स्कूल की भावी पारीख व तृतीय द स्कॉलर एरिना के भव्य जैन, चतुर्थ डीपीएस की कात्यानी पंडित व पांचवा स्थान आकाशद्वीप स्कूल की गरिमा ने प्राप्त किया। वहीं कक्षा 9 से 12 वर्ग में प्रथम एमएमपीएस की मेघना साहू, द्वितीय सेंट एंथोनी स्क्ूल की उमराली, तृतीय चेम्पियन्स एकेडमी की रविना लौहार, चतुर्थ डीपीएस की पायल दुदानी व पांचवा स्थान मिरिण्डा स्कूल के चन्दन ने प्राप्त किया।

यादगार रहा बर्ड फेस्टिवल

तीन दिवसीय बर्ड फेस्टिवल विभिन्न मायनों में बहुत से अनुभवों के साथ यादगार रहा। डब्ल्यू डब्ल्यू एफ इण्डिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि सिंह ने कहा कि उदयपुर की झीलों में पक्षियों का बहुतायात से आना झीलों के स्वास्थ्य का प्रतीक है जो यह दर्शाता है कि पूरे उदयपुर का पर्यावरण स्वस्थ है। एनटीसीए के सदस्य राजपाल सिंह ने प्रकृति के संरक्षण के क्षेत्र में इसे महत्वपूर्ण कड़ी बताया। पर्यावरणविद् डॉ. सतीश शर्मा कहते है कि इस प्रकार के आयोजनों से गांव के युवाओं को अपने जलाशयो-पक्षियों को संरक्षित रखने की प्रेरणा मिल रही है और एक गांव के युवाओं द्वारा श्रेष्ठ कार्य करने से अन्य गांवों में जलाशयों प पक्षियों को संरक्षित करने की प्रतिस्पद्र्धा प्रारंभ हो चुकी है जो प्रकृति संरक्षण के लिए सराहनीय कदम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *