Virat Post

Rajasthan News Site

2 अक्टूबर को प्रदेश में सभी ग्राम सेवा समितियों होगी विशेष आमसभा

जयपुर। प्रदेश की सभी 6,500 ग्राम सेवा समितियों में विशेष आमसभा महात्मा गॉधी जयन्ती के अवसर पर होगा 2 अक्टूबर को आयोजित की जायेगी। रजिस्ट्रार, सहकारिता डॉ. नीरज के. पवन ने मंगलवार को बताया की 2 अक्टूबर को महात्मा गॉंधी की जयन्ती के अवसर पर प्रदेश की सभी ग्राम सेवा समितियों पर विशेष आम सभा आयोजित की जायेगी। समिति में इस दिन नये सदस्य बनाये जाएंगे, ऋण आवेदन प्राप्त करने के साथ-साथ ऋण वितरण का भी कार्य किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इस संबंध में आदेश जारी कर दिये गये है।

डॉ. नीरज के. पवन ने बताया कि वर्तमान में 1,851 ग्राम सेवा सहकारी समितियॉं ई-मित्र का कार्य कर रही है। अब शेष सभी समितियों को ई-मित्र की सेवाओं से जोड़ा जायेगा ताकि ई-मित्र के रूप में कार्य कर समितियॉं सहकारिता की भावना को प्रबल कर सके। उन्होंने बताया कि आम सभा में ई-मित्र की शुल्क सूची का प्रकाशन, समिति के वार्षिक लेखे प्रस्तुत करना, ऑडिट रिपोर्ट की अनुपालना, नो-ड्यूज प्रमाण पत्र जारी करना, वृक्षारोपण करना एवं महात्मा गांधी स्वच्छता अभियान को चलाकर सहकारिता की भावना को जन-जन में पहुंचाया जायेगा।

सहकारिता विभाग के रजिस्ट्रार ने बताया की ग्रामीण क्षेत्रों में वंचित काश्तकार, पिछड़े वर्गों, अनुसूचित जाति/जनजाति, मजदूर एवं अल्पसंख्यक वर्गों में सहकारिता आंदोलन की पहुंच बनाने एवं सहकारिता के माध्यम से संचालित विभिन्न योजनाओं देने एवं समितियों के माध्यम से ई-मित्र की सेवा प्रदान करने के उद्देश्य से ग्राम सेवा सहकारी समितियों के मुख्यालयों पर विशेष आमसभा का आयोजन कराये जाने का निर्णय लिया गया है।

अभियान के पर्यवेक्षण के लिए गठित की कमेटियां

डॉ. नीरज के. पवन ने बताया कि इस अभियान के पर्यवेक्षण के लिए राज्य स्तर पर रजिस्ट्रार को अध्यक्ष, प्रबन्ध निदेशक शीर्ष बैंक को सदस्य एवं महाप्रबन्धक को सदस्य सचिव बनाया गया है। खण्डीय स्तर पर अतिरिक्त रजिस्ट्रार को अध्यक्ष, क्षेत्रीय अंकेक्षण अधिकारी को सदस्य एवं शीर्ष बैंक क्षेत्रीय प्रबन्धक को सदस्य सचिव बनाया गया है। जबकि जिला स्तर पर केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रबन्ध निदेशक अध्यक्ष, उप रजिस्ट्रार व विशेष लेखा परीक्षक को सदस्य एवं सी.सी.बी. के ईओ को सदस्य सचिव बनाया गया है। उन्होंने बताया की मॉनिटरिंग के लिए विभाग स्तर से जिला प्रभारियों को नियुक्त की जाने का निर्णय लिया गया है जो अपने-अपने जिलों को न्यूनतम 05 ग्राम सेवा सहकारी समितियों के आयोजन में भाग लेंगे।

उन्होंने बताया कि सभी बैंक के प्रबन्ध निदेशकों को निर्देश दिये गए है कि वे यह सुनिश्चित करें कि सभी सहकारी समितियां आवश्यक आई.टी. संसाधनों से लेस हो जाये। उन्होंने बताया कि अपैक्स बैंक प्रतिदिन कितनी पैक्स ई-मित्र बन गये हैं इसकी सूचना विभाग को उपलब्ध करायेगा तथा समय-समय पर इस उद्देश्य की पूर्ति हेतु दिशा निर्देंश अपने स्तर से जारी कर समस्त समितियों को ई-मित्र बनाया जाना सुनिश्चित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *