Virat Post

Rajasthan News Site

बकाया कृषि एवं घरेलू कनैक्शन शीध्र होगे जारी

जयपुर डिस्कॉम के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक

जयपुर। ऊर्जा मंत्री डॉ बी.डी. कल्ला ने जयपुर डिस्कॉम के अधिकारियों को बकाया कृषि एवं घरेलू कनैक्शन सर्किलवार निर्धारित लक्ष्यों के अनुरूप तत्काल जारी करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने दीपावली से पूर्व लम्बित कनैक्शन जारी करने और बकाया राशि की वसूली में भी गति लाने के निर्देश दिये। बैठक में प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा कुंजीलाल मीणा, प्रबन्ध निदेशक ए. के. गुप्ता, निदेशक तकनीकी, सचिव प्रशासन, मुख्य लेखा नियत्रंक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सतर्कता, संभागीय मुख्य अभियन्ता, मुख्य लेखाधिकारी सहित निगम क्षेत्र के अन्र्तगत आने वाले 12 जिलों के अधीक्षण अभियन्ता उपस्थित रहे।

डॉ कल्ला बुधवार को विद्युत भवन में आयोजित जयपुर डिस्कॉम के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक को संबोंधित कर रहे थे। उन्होंने कहा की डिमाण्ड नोट जारी होने के बाद निधररित समयावधि में कनैक्शन जारी किये जाये ताकि कृषि एवं घरेलू उपभोक्ताओं को किसी प्रकार की दिक्कत नही हो। इसके साथ ही टी एण्ड डी लॉस को 15 प्रतिशत लाने के लिए प्रभावी उपाय किये जाने चाहिए। उपभोक्ताओं को बिना व्यवधान के बिजली आपूर्ति हेतु ट्रिपिंग की समस्या को दूर किया जाये तथा कृषि व अन्य फीडरों को पृथक करने का कार्य किया जाये।

बैठक में ऊर्जा मंत्री डॉ कल्ला ने कहा की विद्युत तंत्र में सुधार एवं उपभोक्ताओं को समय पर राहत प्रदान करने के लिए अधीक्षण अभियन्ता भी अपने अधीन अधिषाशी अभियन्ता, सहायक अभियन्ता व कनिष्ठ अभियन्ताओं की नियमित बैठके लेकर प्रयास करें। उन्होंने कहा की खराब ट्रांसफार्मर्स को निर्धारित अवधि में बदलने के लिए ”इन्फोर्मशन सिस्टम” को प्रभावी बनाया जायें, साथ ही उपभोक्ताओं की शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही कर उनका समयबद्ध निस्तारण करें। उन्होंने 33 केवी जीएसएस के अलावा उच्च क्षमता के अन्य जीएसएस के कामों को भी निर्धरित अवधि में पूर्ण करने के लिए सत्त मॉनिटरिंग के भी निर्देश दिये, जिससे टी एण्ड डी लॉस कम होने के साथ ही उपभोक्ताओं को भी अच्छी गुणवत्ता की बिजली मिलेगी।

इस अवसर पर प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा कुंजी लाल मीणा ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन उपभोक्ताओं के हर महीने 50 यूनिट से कम यूनिट का बिल आ रहा है उनकी पहचान कर उनकी जांच करें और इसे डिस्कॉम के सभी 12 जिलों में एक अभियान के रूप में चलाया जाये। अधीक्षण अभियन्ता अपने क्षेत्र के सबसे अधिक 50 यूनिट से कम उपभोग वाले उपभोक्ताओं के क्षेत्र में जाये और इसके मूल कारणों की जांच करें।

जयपुर डिस्कॉम के प्रबन्ध निदेशक ए.के. गुप्ता ने विभिन्न योजनाओं एवं कार्यो की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये की 3 फेज एवं सिंगल फेज का कोई भी मीटर खराब नही रहना चाहिए, इसके लिए रीडिंग के दोैरान सूचना मिलते ही तुरन्त बदलने की कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा की विद्युत ड्रावल के अनुसार ही पूरी बिलिंग भी होनी चाहिए। बहुमजिंला इमारतों में निर्माण के दौरान लियें गये अस्थायी कनेक्शन और उसके बाद लिये गये स्थायी कनेक्शनों की जांच भी की जाये। कनिष्ठ अभियन्ता की साईट सत्यापन रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद ही खराब ट्रांसफार्मर बदलने की कार्यवाही की जाये और यह सुनिश्चित किया जाये कि टं्रासफार्मर दुबारा जले नही। बैठक में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले कनिष्ठ/सहायक अभियन्ताओं के प्रशस्ति पत्र उनके अधीक्षण अभियन्ताओं को प्रदान किये गये।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *