Virat Post

Rajasthan News Site

भामाशाह योजना बन्द होने से लोगों को नहीं मिल रहा ईलाज : रामलाल शर्मा

जयपुर (विराट पोस्ट)। भारतीय जनता पार्टी जयपुर जिला देहात (उत्तर) जिलाध्यक्ष एवं चौमूं विधायक रामलाल शर्मा ने विधानसभा में बोलते हुए कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने 13 दिसम्बर 2015 को एक महत्वाकांक्षी योजना प्रदेश में लागू की। जिस योजना का नाम भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना था। जिसमें तीस हजार से तीन लाख रूपये तक का नि:शुल्क ईलाज कराने का प्रावधान तत्कालीन सरकार ने किया और इस योजना में यह भी शामिल किया गया कि भर्ती से 7 दिन पहले और भर्ती के 15 दिन बाद तक सिर्फ सरकारी चिकित्सालय ही नहीं, प्राईवेट चिकित्सालयों में भी व्यक्ति अपना नि:शुल्क इलाज करा सकता है।

उन्होनें विधानसभा अध्यक्ष का ध्यान आकर्षित कराते हुए कहा कि यह बात सच है कि आज भी राजस्थान में कई लोग इलाज ने होने के कारण काल के ग्रास में चले जाते है। ऐसी महत्वाकांक्षी योजना के तहत लगभग 1715 बीमारियां शामिल की गई, जिनका नि:शुल्क ईलाज होना था। लगभग 900 निजी चिकित्साल भी इस योजना अन्तर्गत शामिल किये गये लेकिन दुर्भाग्य इस बात का है कि 2018 तक यह योजना निरंतर चली परन्तु 2019 आते आते यह योजना ने दम तोडती नजार आ रही है।

विधायक शर्मा ने कहा कि आज भी रिकॉर्ड में तो यह योजना चालू है परन्तु धरातल पर वास्तविकता तो यह है कि आज भी निजी चिकित्साल इस योजना भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत इलाज करने से इनकार कर रहे है। वे कह रहे है कि इंश्योरेस कम्पनी में करोड़ों रूपया हमारा बाकी है। सरकार इंश्योरेस कम्पनियों के माध्यम से हमारा भुगतान नहीं करा रही है। हकीकत यह है कि आज भी गरीब आदमी इलाज नहीं होने की वजह से दम तोडता नजर आ रहा है। विधायक शर्मा ने विधानसभा अध्यक्ष के माध्यम से सरकार से मांग की कि सरकार जल्द से जल्द निजी चिकित्सालयों को बकाया भुगतान करे और उन्हे निर्देशित करें कि किसी भी गरीब आदमी का इस योजना के तहत इलाज करने से इनकार नहीं करें।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *