Virat Post

Rajasthan News Site

विधायक शर्मां का पुलिस प्रशासन को 2 अप्रैल तक अल्टीमेटम

2 अप्रैल तक भगवा रैली को लेकर प्रशासन स्थिति साफ करें- रामलाल शर्मा

जयपुर। चौमूं कस्बे में दो समुदायों को लेकर उपजे विवाद को लेकर रविवार को सुभाष सर्किल विधायक निवास पर जिलाध्यक्ष जयपुर देहात (उत्तर) विधायक रामलाल शर्मा ने प्रेस क्रांंफेन्स का आयोजन कर कहा कि प्रशासन हिन्दू भगवा रैली को लेकर 2 अप्रैल सायं 5 बजे तक स्थिति साफ करें, कस्बे में शांति व्यवस्था बनाये रखने में प्रशासन सहयोग प्रदान करें। साथ ही हिन्दू नववर्ष समिति में शामिल में निर्दोंष व्यक्तियों को बिना वजह परेशान करना प्रशासन बन्द करें।

उन्होंनें कहा कि मैं जनप्रतिनिधि होने के नाते मेरा भी ये धर्म बनता है कि कस्बे में शांति व्यवस्था बनी रहे तथा कस्बे में शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए प्रशासन को उचित कदम जो कानून के दायरे में हो, उनको उठाना चाहिए। प्रत्येक व्यक्ति को संविधान में अपने धर्म की आस्था के अनुसार कार्यक्रम करने का अधिकार दिया है लेकिन किसी डर और भय के आधार पर उनके इस अधिकार का हनन नहीं किया जा सकता।

विधायक शमाज़् ने कहा कि निर्दोष व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, मैं निर्दोष शब्द उन लोगों के लिए कह रहा हूँ जो आयोजन समिति के लोगों के खिलाफ आपने मुकदमें दर्ज किये है। आयोजन समिति के कार्यकताओं द्वारा डीजे वाले को बुलाया गया था और डीजे वाला अपना कर्म करके जा रहा था और डीजे वाले द्वारा ना कोई आपश्रिजनक गाना बजाया गया और ना कोई भावना भड़काने वाली बात डीजे वाले ने की, फिर भी डीजे के ड्राईवर व डीजे ऑपरेटर को बिना अपराध पुलिस ने गिरफ्तार किया और आज भी दोनों जेल में हैं। मेरे ख्याल से पुलिस प्रशासन ने जब आयोजन समिति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था तो डीजे वाले के खिलाफ कार्यवाही करना उचित नहीं था, ये प्रशासन का दोहरा चरितार्थ हैं।

साथ ही विधायक शर्मा ने कहा कि प्रशासन द्वारा हिन्दू भगवा रैली को लेकर स्थिति साफ नहीं होनें के कारण लोगों द्वारा कई प्रकार के कयास लगाये जा रहे है, आमजन के इन कयासों को रोकने के लिए प्रषासन 2 अप्रैल सायं 5 बजे तक स्थिति साफ कर किसी के धर्म को आहत होने से बचाने का काम करें। पुलिस प्रशासन को निष्क्रयता ना दिखाते हुए अपनी सक्रियता दिखाने का समय है तथा प्रशासन लोगों की भावनाओं के अनुसार कार्य करे ऐसी मेरी उनसे अपील भी है। पुलिस प्रशासन द्वारा 2 अप्रैल को सायं 5 बजे तक स्थिति साफ नहीं होने पर आगे की रणनीति बता दी जायेगी तथा अपने धर्म को आहत होने से बचाने के लिए जो आवश्यक होगा, वो कदम उठाये जायेगे।

विधायक शर्मा ने बताया कि एक परिवादी मेरे पास आया और उसने बताया कि साहब मेरा तो एक्सीडेन्ट हो रखा है और हाथ पर पट्टा बन्धा हुआ है मैं अपनेे घर पर आराम कर रहा हूँ पुलिस के पास ऐसा कौनसा सबूत है जिस आधार पर मुझे नोटिस देकर पाबन्द किया गया है। विधायक शर्मा ने कहा कि दूसरी ओर कई लोगों का कहना है कि हम कई दिनों से शहर से बाहर रहे है हम चौमूं में रह ही नहीं रहे है और कभी कोई कार्यक्रम में गये ही नहीं फिर भी हमें पुलिस द्वारा नोटिस दिया गया है। पुलिस प्रशासन शहर में शांति व्यवस्था बनाये रखने के बजाय लोगों को डराने का काम कर रही है। मेरे अनुसार पुलिस प्रशासन को वो रास्ता अपनाना चाहिए जो दीर्घकालीन तक कस्बे में शांति व्यवस्था बनाये रखने में काम आयें।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *