Virat Post

Rajasthan News Site

जालोर जिले में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयन्ती के उपलक्ष्य मे तीन दिवसीय समारोह का समापन

जयपुर। महात्मा गांधी का जीवन सभी के लिए अनुकरणीय एवं प्रेरणादायी है। महात्मागांधी के स्वरचित भजन उनके उच्च आदर्शो एवं जीवन के प्रति सोच के अनुरूप ही है । महात्मागांधी के आदर्शो एवं सिद्धान्तों को पूरे विश्व मे अपनाया जाता है।

यह बात उच्च शिक्षा राज्य मंत्री एवं जालोर जिले के प्रभारी भंवर सिंह भाटी0 ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वी जयन्ती के उपलक्ष्य मे आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम के अन्तिम दिवस पर खादी विषयक संगोष्ठी एवं समापन समारोह मे जिला परिषद के सभागार मे कही।

समारोह मे भाटी ने कहा कि उच्च जीवन आदर्शो को जीवन मे आत्मसात करना चाहिये तभी हमारा जीवन सुखमय होगा। उन्होने कहा कि महात्मागांधी के आदर्शो और सिद्धान्तों को अपने जीवन मे अपनाना ही महात्मागांधी के प्रति हम सभी की सच्ची श्रद्धाजंलि होगी। इस अवसर पर जिला कलक्टर महेन्द्र सोनी ने कहा कि महात्मागांधी सोच दूरदृष्टि पूर्ण थी। महात्मा गांधी के आदर्श और सिद्धान्तों के कारण ही आज हम विकास के इस युग मे है।

महात्मा गांधी सही रूप मे राष्ट्र निर्माता थे। उन्होंने बिना गोली चलाये अंगे्रजों को देश से बाहर का रास्ता दिखाया तथा सत्य और अंहिसा के साथ स्वदेशी और स्वच्छता का पाठ भी हम सभी को पढाया। इस अवसर पर खादी विषय पर एक संगोष्ठी का आयोजन भी किया गया जिसमे अशोक कुमार ने खादी और गांधी विषय मे अपने विचार व्यक्त किये।

इसके पश्चात श्रीमती दयावती ने खादी विषय पर अपनी स्वरचित ‘‘बापू की पहचान है खादी ‘‘कविता पाठ कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। तत्पश्चात् तीन दिवसीय कार्यक्रम के द्वितीय दिवस पर चित्रकला, भाषण एवं निबंध प्रतियोगिता मे प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को उच्च शिक्षा राज्य मंत्री भंवरसिंह भाटी द्वारा स्मृति चिन्ह एवं प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम मे महात्मा गांधी की वेशभूषा मे तैयार होकर आये नन्हे बालक धीरज, कमलेश, मुस्ताक खान, वैभव एवं शुभम की शिक्षा राज्य मंत्री द्वारा प्रशंसा करते हुए उन्हे स्मृति चिन्ह भी प्रदान किया। संगोष्ठी से पूर्व उच्च शिक्षा राज्य मंत्री एवं जालोर जिले के प्रभारी ने कलेक्टे्रट प्रागंण मे महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पाहार पहनाकर श्रृद्धांजलि अर्पित की ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *