Virat Post

Rajasthan News Site

सवा करोड़ पशुओं को लगेंगे एफएमडी के टीके

पशु रहेंगे रोग मुक्त, अभियान 11 सितम्बर से

जयपुर। राज्य में गौ एवं भैंसवंशीय पशुओं को खुरपका-मुंहपका बीमारी (एफएमडी) से बचाने के लिए आगामी 11 सितम्बर से प्रदेशव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू किया जाएगा। 20 अक्टूबर तक चलने वाले इस अभियान के दौरान सवा एक़ करोड़ पशुओं को टीके लगााए जाएंगे। अभियान की सफलता के लिये विभागीय स्तर पर व्यापक तैयारियां की जा चुकी है।

पशुपालन मंत्री लालचन्द कटारिया ने बताया कि खुरपका-मुंहपका रोग के कारण प्रदेश के पशुपालकों को काफी आर्थिक हानि उठानी पड़ती है। एक अनुमान के अनुसार देश में एफएमडी से लगभग 20 हजार करोड़ रुपए की आर्थिक हानि होती है और दूध का उत्पादन लगभग 50 प्रतिशत तक कम हो जाता है। कटारिया ने बताया कि यह अत्यधिक तेजी से फैलने वाला रोग है जो एक बीमार पशु से दूसरे पशु में हवा, चारे-पानी, फार्म में उपयोग किए जा रहे उपकरणों द्वारा फैलता है। इस रोग को फैलने से रोकने के लिए समय पर टीकाकरण, पशुओं तथा चारे-पानी के परिवहन पर सख्त निगरानी रखना आवश्यक है। उन्होंने बताया कि इस रोग से बचाव के लिए पशुपालक अपने दुधारू पशुओं को छह-छह माह के अन्तराल पर वर्ष में दो बार टीका अवश्य लगवाएं।

कटारिया ने बताया कि दुधारू पशुओं को एफएमडी रोग से मुक्त किये जाने के लिए राज्यव्यापी अभियान चलाया जा रहा है जिसके अन्तर्गत पिछले वर्ष तीन करोड़ इकतालीस लाख पशुओं में टीकाकरण किया गया है। उन्होंने बताया कि इस अभियान से आने वाले समय में एफएमडी रोग नियंत्रित कर धीरे-धीरे इस रोग का समूल रूप से उन्मूलन किया जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *