Virat Post

Rajasthan News Site

जयपुर विकास प्राधिकरण लगायेगा 15 मेगावाट का सोलर पावर प्लांट

11 करोड़ की सालना बिजली की होगी बचत

जयपुर। जयपुर विकास प्राधिकरण द्वारा बगरू के समीप छितरोली में 15 मेगावाट का एक सोलर पावर प्लांट लगायेगा। इस प्लांट के स्थापित होने पर जेडीए को लगभग 11 करोड सालाना बिजली के बिलों में बचत होगी। जिसके लिए इसी माह निविदा आमंत्रित की जायेगी।

जेडीसी टी. रविकान्त ने बताया कि सीवरेज ट्रीटमेंट प्लान्ट का विशेष कर द्रव्यवती नदी परियोजना के एस.टी.पी. पार्क, आदि पर भारी बिद्युत उपयोग होता है। इस मद में काम आ रही बिजली की जगह रिन्यूएबल एनर्जी उत्पादन कर बचत करने की दृष्टि से किया जा रहा हैं। उन्होनें बताया कि यह प्लांट रेस्को मॉडल पर कम्पीटीटिव बिल्डिंग के तहत लगवाया जाना प्रस्तावित है जिससे न्यूनतम दर-दाता को स्वयं के खर्चें से 15 मेगावॉट क्षमता का प्लांट लगाना एवं 33 के वी भूमिगत केबल द्वारा नजदीकी सब-स्टेशन से जोडऩे का कार्य व 25 वर्ष तक प्लांट का रखरखाव व संचालन सम्मिलित होगा।

रविकान्त ने बताया कि हाल ही में जयपुर विकास प्राधिकरण द्वारा कार्यालय में होने वाली बिजली खपत कम करने व रिन्यूवेबल एनर्जी उत्पादन को अपनाने की दिशा में कई महत्वपूर्ण कदम उठाये। उन्होंने बताया कि जेडीए द्वारा जविप्रा भवनों में रूफटॉप, 366 किलोवॉट क्षमता का सोलर पावर प्लांट स्थापित कर सौर उर्जा उत्पादित की जा रही है जिससे भवन के बिजली बिल में लगभग 30 प्रतिशत कमी आयी है।

भारत सरकार के उपक्रम ई.ई.एस.एल. के माध्यम से (बिल्डिंग एनजीज़् एफिसिएन्सी प्रोग्राम) कार्यक्रम के तहत प्राधिकरण भवन में विभिन्न विद्युत उपकरण यथा ए.सी., पंखे, लाईट, पम्प आदि समस्त विद्युत उपकरणों को एनर्जी एफिसिएन्ट उपकरणों में बदला जा रहा है, इससे प्राधिकरण भवन के बिजली खर्च में लगभग 20 प्रतिशत बचत होने लगी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *