Virat Post

Rajasthan News Site

खसरा रूबैला टीकाकरण अभियान के संबंध में बैठक

जयपुर। जिला कलक्टर जगरूप सिंह यादव ने कहा कि खसरा रूबैला टीकाकरण अभियान में चिकित्सा विभाग और शिक्षा विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका है। यह कार्यक्रम स्वास्थ्य के प्रति लोगोें में जागरूकता पैदा करता है। यादव बुधवार को कलेक्ट्रेट के सभागार में खसरा रूबैला टीकाकरण अभियान के संबंध में आयोजित बैठक में बोल रहे थे।

जिला कलक्टर ने कहा कि खसरा रूबेला टीकाकरण अभियान 22 जुलाई से सभी शिक्षण संस्थानों में 9 से 15 आयु वर्ष के बच्चों के टीकाकरण आरम्भ किया जा रहा है। अभियान के दौरान 2 करोड़ 26 लाख बच्चों को टीकाकरण से लाभाविन्त किया जाएगा। जिला कलक्टर ने कहा कि टीकाकरण अभियान बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करेगा। उसके साथ ही गर्भवती महिलाओं के प्रति प्रतिरक्षित करता है, नवजात शिशु में कंजेनिटल रूबैला सिंड्रोम के प्रति सुरक्षित होगे। खसरा रोग छोटे बच्चों और वयस्कों में के लिए खसरा जानलेवा सिद्ध हो सकता है क्योकि इसके कारण होने वाले रोग डायरियां, निमोनियां और मस्तिष्क की वजह से मूत्यु भी हो सकती है। केवल टीकाकरण ही इससे रोेग का बचाव किया जा सकता है खसरे से पीड़ित व्यक्ति को आराम करना चाहिए और भरपूर मात्रा में तरल पदार्थ लेना चाहिए। खसरा रोग के दौरान मरीज को विटामिन-ए की दो खुराक देनी चाहिए।

अतिरिक्त जिला कलक्टर (चतुर्थ) डॉ. अशोक कुमार शर्मा ने को खसरा रूबैला टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए कार्य करे ताकि इसका लाभ बच्चों को मिल सके। चिकित्सा और शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने खसरा रूबेला टीकाकरण अभियान की तैयारी के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *